पाँच गुणा डेटा होगा खर्च, क्योंकि भारत में आनेवाला है 5 G नेटवर्क

0
5G

पाँच गुणा डेटा होगा खर्च, क्योंकि भारत में आनेवाला है 5 G नेटवर्क

अब भारत में आनेवल्ला है 5 G नेटवर्क, जिसकी टेकस्टिंग कई देशों में की जा रही है, कहा जाता है की विज्ञान एवं तकनीक क्षेत्र में इस टेक्नालजी का आना एक नए युग की शुरुआत जैसा होगा।

बता दें, सैमसंग ने कुछ महीने पहले ही अपना 5 G स्मार्टफोन साउथ कोरिया में लॉंच किया था। सैमसंग के अलावा चिपसेट निर्माता क्वाल्कोम और हुवावे जैसी कंपनियो भी 5 G को लेकर काम की शुरुआत कर चुकी है।

बात करें 5 G नेटवर्क की तो यह 5 G स्मार्टफोन की वायरलेस सेवा की पाँचवी पीढ़ी है। पिछल जेनरेशन की तुलना में इसकी स्पीड काफी अच्छी मानी जा रही है। 5G टेक्नोलोजी के बाद इंटरनेट के उपयोगकर्ता को डेटा की हाइ डेन्सिटि मिलने लगेगी साथ ही बेहतर कवरेज मिलेगा और मोबाइल उपकरणो की बैटरी भी कम खर्च होगी।

बता दें, इस टेक्नोलोजी की शुरुआत मई 2013 से ही हो गयी थी। यह भी बताया जा रहा है की यह मौजूदा एलटीई नेटवर्क पर काम कर सकेगा। एक शोध के अनुसार साल 2025 तक एक तिहाई आबादी को 5G नेटवर्क का कवरेज मिलेगा। इस 5G टेक्नोलोजी में डेटा का रेट काफी तेज़ होगा। कहा जा रहा है की इसमें डेटा रेट 4जी की तुलना में 100 गुना ज्यादा होगा। यानि की 5G कनेकशन पर डाउनलोड स्पीड 2.5 गीगाबाइट प्रति सेकंड होगी और अपलोड स्पीड 1.25 गीगाबाइट प्रति सेकंड होगी।

ये भी पढ़े 

5G नेटवर्क के फायदे

  • बैटरी लाइफ बढ़ जाएगी मतलब बैटरी की खपत कम हो जाएगी।
  • नेटवर्क की एनर्जी 90 फीसदी तक कम हो जाएगी।
  • कई डिवाइस को साथ में जोड़ा जाया जा सकेगा।
  • लंबी दूरी तक के लिए हाइ स्पीड पर डेटा भेज सकेंगे।
  • तीन घंटे की HD मूवी 1 सेकंड में डाउनलोड हो जाएगी।
  • इसकी मदद से घर की सिकुओरिटी सिस्टम चल सकेगी।

यहीं अगर भारत को इससे क्या फायदा होगा उसकी बात करें तो इसके आने से भारत के डिजिटल मार्केट पर काफी असर पड़ेगा। तेज कनेक्टिविटी और संचार माध्यमों में तेजी से बढ़ोतरी होने से भारत की जीडीपी बढ़ेगी।

डिजिटल इकनॉमिक पॉलिसी पर बनी ओईसीडी की एक कमिटी के अनुसार 5G टेक्नोलोजी के कारण जीडीपी ग्रोथ रेट बढ़ेगी साथ ही रोजगार और डिजिटलाइजेशन में भी बढ़ोतरी होगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here