अरुण जेटली ने पीएम मोदी को खत लिखकर कहा- बीमार हूं जिम्मेदारियों से दूर रखें

0

लोकसभा चुनाव में पीएम नरेंद्र मोदी की शानदार जीत के साथ वापसी के साथ ही उनकी कैबिनेट को लेकर अटकलें शुरू हो गई थीं। इस बीच पिछली सरकार में वित्त मंत्री का प्रभार संभालनेवाले अरुण जेटली ने कैबिनेट में शामिल नहीं करने का आग्रह पीएम मोदी से किया है। जेटली ने पीएम मोदी को चिट्ठी लिखकर बीमारी के कारण कैबिनेट में शामिल होने में असमर्थता जताई। उन्होंने प्रधानमंत्री मोदी को लिखा पत्र अपने ट्विटर अकाउंट पर भी साझा की शेयर किया।

अरुण जेटली ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को चिट्ठी लिखकर कहा है कि नई सरकार में उन्हें कोई मंत्री पद नहीं चाहिए. जेटली ने खराब सेहत का हवाला देकर कहा है कि उन्हें नई सरकार में कोई पद नहीं चाहिए. जेटली ने पीएम मोदी को खत लिखकर कहा- ‘मैं आपसे औपचारिक रूप से अनुरोध करने के लिए लिख रहा हूं कि मुझे खुद के लिए अपने उपचार के लिए और अपने स्वास्थ्य के लिए उचित समय की ज़रूरत है और इसलिए नई सरकार में, फिलहाल के लिए मैं किसी भी जिम्मेदारी का हिस्सा नहीं होना चाहता.

 

 

जेटली ने लिखा कि आपके नेतृत्व में पिछली सरकार में 5 साल काम करना मेरे लिए सौभाग्य की बात है और इससे मुझे काफी अनुभव भी मिला है. इससे पहले भी पार्टी ने मुझे पहली एनडीए सरकार में पार्टी संगठन में भी और विपक्ष में भी मुझे जिम्मेदारी दी गई. मैं इससे अधिक कभी कुछ नहीं चाहा.पिछले 18 सालों से मैं कुछ गंभीर स्वास्थ्य संबंधी परेशानियों से जूझ रहा हूं. मेरे डॉक्टर भी उन सबको मात देने में मेरी मदद कर रहे हैं. कैंपेन खत्म करके जब आप केदारनाथ की यात्रा पर जा रहे थे तब मैंने आपसे कहा था कि कैंपेन के दौरान मुझे दी गई ज़िम्मेदारियों को खत्म करने के बाद मुझे भविष्य में मुझे ज़िम्मेदारियों से हटकर अपने लिए कुछ समय चाहिए. इस समय में मैं अपने उपचार और स्वास्थ्य पर ध्यान दूंगा. आपके नेतृत्व में बीजेपी और एनडीए ने शानदार जीत हासिल की है. नई सरकार कल शपथ लेने जा रही है.

मैं आपसे औपचारिक रूप से अनुरोध करने के लिए लिख रहा हूं कि मुझे खुद के लिए, अपने उपचार के लिए और अपने स्वास्थ्य के लिए उचित समय की ज़रूरत है और इसलिए नई सरकार में फिलहाल के लिए मैं किसी भी जिम्मेदारी का हिस्सा नहीं होना चाहता.मैं निश्चित रूप से मेरे पास किसी भी काम को करने के लिए काफी समय होगा इसलिए मैं अनौपचारिक रूप से सरकार और पार्टी के लिए काम करता रहूंगा.’

किडनी संबंधी बीमारी से जूझ रहे अरुण जेटली का पिछले साल मई में किडनी ट्रांसप्लांट हुआ था. इस साल जनवरी में वह सर्जरी के लिये अमेरिका गए थे. उनके बायें पैर में सॉफ्ट टिश्यू कैंसर है. यही वजह रही कि वह मोदी सरकार के पहले कार्यकाल के अंतरिम बजट में पेश नहीं कर पाए. उनकी जगह रेलवे और कोयला मंत्री पीयूष गोयल ने बजट पेश किया.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here