एक साथ तीन परीक्षाओं का बोझ, उलझे विद्यार्थी

0
दिसंबर के अंतिम सप्ताह में प्री बोर्ड परीक्षा शुरू हुई है। लेकिन ठंड अधिक होने के बाद स्कूल बंद कर दिया गया। इससे कई स्कूलों में प्री बोर्ड नहीं लिया जा सका है

नेशन भारत, सेंट्रल डेस्क:  केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (सीबीएसई) की 12वीं बोर्ड के परीक्षार्थी विभिन्न परीक्षाओं के बीच उलझे हुए हैं। ऐसे में न तो वे सेल्फ स्टडी कर पा रहे हैं और न ही खुद का आकलन ही। समय से परीक्षार्थी बोर्ड परीक्षा की तैयारी का आकलन कर पाये, इसके लिए सीबीएसई ने सभी स्कूलों को 31 दिसंबर तक प्री-बोर्ड ले लेने का आदेश दिया था।

लेकिन राजधानी समेत प्रदेशभर के अधिकतर स्कूलों ने प्री बोर्ड नहीं लिया है। ऐसे में बोर्ड परीक्षार्थियों को अभी प्री बोर्ड देना है। वहीं एक जनवरी से प्रायोगिक परीक्षा देनी है। इसके अलावा छह जनवरी को जेईई मेन लिया जायेगा। इससे छात्रों के ऊपर तीन परीक्षाओं का बोझ है। अधिकतर स्कूल जनवरी के पहले सप्ताह में प्री बोर्ड लेगा। दस दिनों तक प्री बोर्ड लिया जायेगा। इस बीच में छह जनवरी को जेईई मेन भी देना है।

12वीं के विज्ञान, वाणिज्य और कला संकाय के अधिकतर विषयों में प्रोजेक्ट वर्क कर दिया गया है। इससे एक छात्र को 10 से 12 प्रोजेक्ट तैयार करना है। इसके अलावा प्रायोगिक के लिए कॉपी तैयार करनी है। इस बार प्रायोगिक परीक्षा के दौरान कॉपी जमा करना अनिवार्य है। सेंट माइकल हाई स्कूल के गणित के शिक्षक संजय कुमार ने बताया कि एक छात्र को एक-एक विषय में दो से तीन प्रोजेक्ट तैयार करना हैं।

प्री बोर्ड खत्म होने के तुरंत बाद लिखित परीक्षा शुरू हो जायेगी। प्री बोर्ड का रिजल्ट मिलने के साथ ही प्रायोगिक परीक्षा भी शुरू हो जायेगी। इससे छात्र खुद का आकलन नहीं कर पायेंगे। शिक्षक आभा चौधरी ने बताया कि प्री बोर्ड के रिजल्ट से छात्रों को खुद का आकलन करने का मौका मिलता है। प्री बोर्ड के दौरान जो गलतियां होती हैं, उन्हें सुधार करने का मौका मिलता है।

दिसंबर के अंतिम सप्ताह में प्री बोर्ड परीक्षा शुरू हुई है। लेकिन ठंड अधिक होने के बाद स्कूल बंद कर दिया गया। इससे कई स्कूलों में प्री बोर्ड नहीं लिया जा सका है। राजीव रंजन, सिटी कोऑर्डिनेटर, सीबीएसई

15 दिन कम किया शेड्यूल सीबीएसई ने 10वीं और 12वीं बोर्ड 2020 प्रायोगिक परीक्षा का शेड्यूल में बदलाव किया है। अभी तक 15 जनवरी से 15 फरवरी तक प्रायोगिक परीक्षा होती थी। लेकिन इसे एक जनवरी से सात फरवरी तक कर दिया गया है। इससे प्री बोर्ड का शेड्यूल भी बोर्ड ने 31 दिसंबर कर दिया था। जबकि पहले 10 जनवरी तक प्री बोर्ड लेना होता था।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here