दिल्ली के बिज़नेस मैन ध्रुव त्यागी को इन्साफ दिलाने के लिए छपरा में कैंडिल मार्च निकाला गया

0

दिल्ली में रविवार को बसईदारापुर इलाके में 51 साल के बिज़नेस मैन ध्रुव त्यागी को अपनी 27 साल की बेटी से छेड़छाड़ का विरोध करने पर कुछ लोगों ने चाकुओं से गोद कर मार डाला। इस घटना में अपने पिता को बचाने आया 19 साल का बेटा अनमोल गंभीर रूप से घायल हो गया, जिसका इलाज अस्पताल में चल रहा है।

इस घटना के विरोध में छपरा में शुक्रवार की देर शाम हिन्दू समाज के युवाओं ने कैंडिल मार्च निकाला और उनकी नृशंस हत्या पर शोक जताते हुए कहा कि हम दिल्ली प्रशासन से माँग करते हैं कि तत्काल प्रभाव से घटना में शामिल सभी दोषियों को गिरफ्तार किया जाए और स्पीडी ट्रायल चलाकर उन्हें फाँसी की सजा दी जाए। अगर दिल्ली प्रशासन ऐसा नहीं करती तो पूरे देश में इसके खिलाफ आंदोलन होगा।आपको बता दें कि हमले का आरोप जहांगीर नाम के शख्स और उसके तीन बेटों पर लगा है।

क्या है पूरा मामला

एफआईआर के मुताबिक जब ध्रुव त्यागी अपनी बेटी के साथ अस्पताल से वापस लौट रहे थे। उसी दौरान जहांगीर के एक बेटे ने उनकी तरफ गलत इशारा किया। जिसके कुछ देर बाद ध्रुव त्यागी अपने बेटे अनमोल के साथ इस मामले की शिकायत करने जहांगीर के घर गए। जब त्यागी अपने बेटे के साथ उनके घर पहुंचे तो तीन भाई घर के बाहर नशे में धुत बैठे थे तभी वहां त्यागी की उनके बेटों से बहस हो गई।

उसी दौरान जहांगीर, उनकी पत्नी और बेटी घर की बालकनी से उनपर पत्थर बरसाने लगे। पुलिस को बताया गया कि जहांगीर की पत्नी ने ही उन्हें चाकू लाकर दिया था। ध्रुव त्यागी के सीने के पास दो बार चाकू से वार किया गया। इसके अलावा उनके पैर पर भी गंभीर चोटें आईं। त्यागी के बेटे अनमोल ने पुलिस को बताया कि जब उनकी बहन बीच बचाव के लिए पहुंची तो, जहांगीर के परिवार ने उन पर भी हमला किया, जिनमें दो महिलाएं भी शामिल हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here