चक्रवात वायु ने बदला अपना रुख, गुजरात अभी भी हाई अलर्ट पर

0

आईएमडी की ताजा रिपोर्ट के अनुसार, चक्रवात वायु, जो ‘बहुत गंभीर चक्रवाती तूफान’ में बदल गया है, ने अपने रुख  को थोड़ा बदल दिया है। जिस चक्रवात की आज दोपहर के आसपास टकराने की आशंका थी, उसे अब गुजरात में हिट करने की संभावना नहीं है। यह वेरावल, पोरबंदर और द्वारका क्षेत्रों से पास होगा। चक्रवात वायु का प्रभाव तटीय क्षेत्रों पर तेज हवाओं और भारी वर्षा के साथ दिखाई देगा।

अपने पूर्वानुमानों को संशोधित करते हुए, आईएमडी ने कहा कि चक्रवात वायु को कुछ समय के लिए उत्तर-उत्तर-पश्चिम में स्थानांतरित करने की संभावना है

वायु तूफ़ान आज दोपहर से गुजरात के सौराष्ट्र तट को 135-145 किमी प्रति घंटे की गति के साथ पार कर रहा है। राज्य सरकार ने सौराष्ट्र और कच्छ क्षेत्रों के निचले इलाकों से लगभग तीन लाख लोगों को सुरक्षित जगह पर भेज दिया ।चक्रवात से कच्छ, मोरबी, जामनगर, जूनागढ़, देवभूमि-द्वारका, पोरबंदर, राजकोट, अमरेली, भावनगर और गिर-सोमनाथ जिले प्रभावित होने की संभावना है।

पीएम मोदी ने अपने गृह राज्य में लोगों को सुरक्षित रहने के लिए स्थानीय एजेंसियों द्वारा दी जा रही वास्तविक समय की जानकारी का पालन करने की सलाह दी है। गुजरात के सीएम विजय रूपानी ने भी लोगों से निकासी की प्रक्रिया में सहयोग करने की अपील की ताकि जानमाल का नुकसान न हो।

तटरक्षक, सेना, नौसेना, वायु सेना और सीमा सुरक्षा बल को हाई अलर्ट पर रखा गया है। सेना ने स्टैंडबाय पर 24 कॉलम आवंटित किए हैं और किसी भी बचाव और राहत कार्य को करने के लिए तैयार है।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here