भ्रष्‍टाचार के मुद्दे पर पाटलिपुत्र विवि में विकासशील छात्र मोर्चा और छात्र संघ ने सीनेट की बैठक का किया विरोध

0
विकासशील छात्र मोर्चा और छात्र संघ ने सीनेट की बैठक का किया विरोध

नेशन भारत, सेंट्रल डेस्क: विकासशील छात्र मोर्चा और कॉमर्स कॉलेज छात्र संघ के द्वारा आज पाटलिपुत्र यूनिवर्सिटी के सीनेट के बैठक में जोरदार विरोध व प्रदर्शन देखने को मिला. सीनेट की बैठक में पीपीयू के भ्रष्ट कुलपति गुलाब चंद जयसवाल के खिलाफ़ पुरजोर विरोध दर्ज कराया. मालूम हो कि विश्वविद्यालय में करोड़ों के घाटे के बजट पर चर्चा करने के लिए विश्वविद्यालय प्रशासन ने एवं कुलपति ने पाटलिपुत्र विवि में आज सीनेट की बैठक आयोजित की थी.

इस दौरान छात्रों ने पीपीयू के कुलपति ने छात्र जदयू एवं ABVP के चापलूसी करने वाले सदस्यों को सीनेट का सदस्य बनाये रखने का आरोप लगाया. छात्रों ने कहा कि यह विश्वविद्यालय के लाखों छात्रों के साथ धोखा है, यह सीनेट का बैठक बिल्कुल ही अमान्य माना जाएगा. फर्जी डिग्री के बल पर अपने पद का दुरुपयोग करने वाले कुलपति पर करोड़ो के घोटाले में संलिप्ता है. उन्‍होंने कहा कि वीसी गुलाब चंद जयसवाल पर प्राथमिकी भी दर्ज है, लेकिन राजभवन औऱ सरकार ऐसे फर्जी कुलपति पर कोई एक्शन लेते नहीं दिख रहा जो कि गलत है.

कॉमर्स कॉलेज छात्रसंघ अध्यक्ष और विकासशील छात्र मोर्चा के प्रदेश अध्यक्ष विकास बॉक्सर ने कई बार राजभवन जाकर कितनी बार कुलपति की डिग्री और पाटलीपुत्र में हो रहे घोटाले पर जांच बैठाने की मांग की. साथ ही आंदोलन के जरिये कई बार राजभवन को भी अवगत कराया गया है, लेकिन सरकार और राजभवन इस मामले में चुप्पी साधे हुए हैं. सीनेट की बैठक में जितने भी छात्र जो सीनेट के मेंबर है सब सत्ताधारी पक्ष के हैं. कोई भी छात्रों के सवाल पर रिजल्ट में धांधली के सवाल नहीं पूछा.

विश्वविद्यालय में जो भी बजट पेश हो वह सार्वजनिक ना हो, इसलिए विश्वविद्यालय प्रशासन ने सिर्फ सत्ताधारी पक्ष को बैठक को में रखा है. इसका छात्र मोर्चा विरोध करती है और सीनेट कि मीटिंग को बहिष्कार करते है. विश्वविद्यालय में प्रशासनिक चूक की क्योंकि वजह से अनियमितता हुई है. कोर्स ड्यूरेशन के साथ-साथ सभी कॉलेज में पुस्तकालय और मूलभूत सुविधा को लेकर सीनेट की बैठक में आवाज उठाने वाले किसी भी विपक्षी छात्र नेता को तो सीनेट का सदस्य ही नहीं बनाया गया.

विवि से जुड़ी कई अहम मुद्दे हैं जिसकी चर्चा करने वाला कोई नहीं है विश्वविद्यालय के अंदर और विवि का विकास करने के संबंध में महत्वपूर्ण निर्णय लेने के लिए बैठक आयोजित की जाती है. लेकिन यहां करोड़ों रुपए का फंड पास होता है और किसी को कानो कान खबर तक नहीं लगती है. सीनेट की बैठक का बहिष्‍कार अमित पाठक,हेमंत कुमार, दुर्गेश तिवारी अविनाश, प्रभात, आकाश कुमार, पुरषोत्तम कुमार, राहुल, सुधांशू ,विवेक कुमार निखिल सहित सैकड़ो विद्यार्थियों ने किया.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here