डीएम साहब ने कह दिया, मकान मालिकों ने मांगा किराया तो होगी 2 साल की जेल

0
डीएम साहब ने कह दिया है कि किरायेदारों से अगर किराया मांगा तो 2 साल की जेल हो सकती है.

नेशन भारत, सेंट्रल डेस्क: डीएम साहब ने कह दिया है कि किरायेदारों से अगर किराया मांगा तो 2 साल की जेल हो सकती है. पूरे देश मे लॉक डाउन चल रहा है इसलिए 1 महीने का किराया माफ करना होगा. अगर आप मकान मालिक हैं तो सतर्क हो जाएं किराया मांगने पर 2 साल तक की जेल हो सकती है.


नोएडा के मकान मालिकों को डीएम ने आदेश दिया है कि वह गरीब किरायेदारों से किराया ना मांगे. ऐसा करने पर 2 हजार रुपये का जुर्माना और 2 साल की जेल तक हो सकती है. गौरतलब है कि कोरोना वायरस की वजह से पीएम मोदी के द्वारा लॉक डाउन के ऐलान के बाद गरीब मजदूरों में हड़कंप मच गया.


बता दें कि बिहार और उत्तर प्रदेश जैसे राज्यों से बड़ी संख्या में मजदूर दिल्ली, मुंबई, कोलकाता और पंजाब जैसे जगह पर काम करते हैं. लॉक डाउन की घोषणा के बाद पूरे देश में ट्रेनों और सार्वजनिक वाहनों का आवागमन अचानक बंद हो गया. फैक्ट्रियां बंद हो गई लोगों के रोजगार छूट गए. इस स्थिति में वे पलायन को मजबूर हो रहे हैं. आर्थिक तंगी और भूख की मार से जार – जार मजदूर रोजी रोटी के लिए प्रतिदिन संघर्ष कर रहे हैं.


इसी बीच नोएडा के डीएम ने मकान मालिकों को आदेश दिया है कि वह गरीब किरायेदारों से किराया ना मांगे. लॉक डाउन के बाद दिल्ली, राजस्थान, पंजाब हरियाणा और उत्तर प्रदेश की सड़कों पर भारी संख्या में मजदूरों का हुजूम देखने को मिल रहा है. कईयों ने तो पैदल यात्रा शुरू कर दी है. ताकि वह किसी तरह घर पहुंच सके. लॉक डाउन की स्थिति में मजदूरों पर रोजी रोटी के संकट से ज्यादा भूखों मरने की नौबत आन खड़ी है.

इस स्थिति में वह किसी भी कीमत पर अपने घर पहुंचना चाहते हैं. लेकिन अगर पलायन नहीं रोका गया तो को रोना का कोहराम कई गुना बढ़ सकता है. नोएडा डीएम ने भी पलायन को रोकने के लिए ही मकान मालिकों को आदेश दिया है कि गरीब किरायेदारों से किराया नहीं बसूलें। उन्हें कम से कम 1 माह का किराया माफ करना होगा.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here