जेईई मेन छह से, सूबे के आठ शहरों में बनेंगे परीक्षा केंद्र

0
एनआईटी और आईआईटी में दाखिले के लिए प्रवेश परीक्षा की शुरुआत छह से नौ जनवरी तक होगी

नेशन भारत, सेंट्रल डेस्क: एनआईटी और आईआईटी में दाखिले के लिए प्रवेश परीक्षा की शुरुआत छह से नौ जनवरी तक होगी। जेईई मेन की प्रवेश परीक्षा के आधार पर प्राप्त रैंक के आधार जेईई एडवांस की परीक्षा में शामिल होने का मौका मिलेगा।

प्रवेश परीक्षा में शामिल होने के लिए जेईई मेन 2020 राज्य के आठ शहरों में आयोजित किए जाएंगे। परीक्षा केन्द्रों पर सीसीटीवी कैमरे लगाए जाएंगे। इस बार केंद्र पर छात्र-छात्राओं का चेहरा कैमरे में कैद किया जाएगा। चेहरे का मिलान होने पर ही सिस्टम ऑन होगा। वहीं बायोमीट्रिक अटेंडेंस भी लिया जाएगा। प्रवेश पत्र में परीक्षा की तिथि, केंद्र तथा शिफ्ट की जानकारी दी गई है।

निर्धारित समय और शिफ्ट में ही अभ्यर्थी को शामिल होना होगा। परीक्षा में शामिल होने के लिए 9.5 लाख से अधिक अभ्यर्थियों ने आवेदन किए हैं। पहली पाली में सुबह 9:00 बजे तथा दूसरी पाली में दोपहर 2:00 बजे तक ही प्रवेश मिलेगा।

जेईई मेन के परीक्षा विशेषज्ञ साइंस कॉलेज के पूर्व प्राचार्य प्रो. केसी सिन्हा ने बताया कि परीक्षा में छात्रों को पहले वैसे ही प्रश्नों को हल करना चाहिए जिसपर पूर्ण विश्वास है। इसके बाद दूसरे डॉट वाले प्रश्नों को देखना चाहिए। छात्रों का एक-एक मिनट महत्वपूर्ण है। सभी प्रश्नों के लिए समान अंक निर्धारित हैं। गणित के प्रश्नों को हल करने के दौरान अतिरिक्त पेज का इस्तेमाल करें। इससे स्टेप को याद रखने में सहूलियत होगी।

इधर मेंटर्स एडुसर्व के आनंद जायसवाल की मानें तो फिजिक्स का पेपर सबसे कठिन होता है। इसे ध्यानपूर्वक बनाने की जरूरत है। खासकर न्यूमेरिकल के पार्ट को बेहतर तरीके से बनाने का प्रयास करना चाहिए। यह स्कोरिंग होता है। फिजिक्स क्लियर होने पर दूसरे विषय आराम से क्लियर हो जाएंगे। परीक्षा के लिए निर्धारित अवधि में ही प्रैक्टिस सेट हल करने का प्रयास करें।

तीनों विषयों के प्रश्न एक साथ हल करें। परीक्षा विशेषज्ञ जे राय की मानें तो सामान्य तौर पर पहले रसायन शास्त्र के प्रश्नों को जवाब देना चाहिए। ये आसानी से बन जाते हैं। इसके बाद ही भौतिक और गणित के प्रश्नों को बनाना चाहिए। अच्छे अंक के लिए समय प्रबंधन काफी महत्वपूर्ण है। इसके लिए सबसे पहले उन प्रश्नों को हल करें जो आसानी से हल हों। अब किसी को कुछ भी नया नहीं पढ़ें। प्रैक्टिस सेट ऑनलाइन हल करने से परीक्षा के दौरान आत्मविश्वास बढ़ेगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here