लड़की ने कोर्ट में कहा- ”मुझे विधायक के पास ले जाया जाता था”

0
RAPE
RAPE

बिहार के भोजपुर जिले की एक नाबालिग लड़की जो दो दिन पहले सामने आए सेक्स रैकेट मामले में पीड़ितों में से एक थी, उसने अदालत में कहा कि उसे रात में “विधायक के पास भेजा जाता था”,  पीड़िता ने हालांकि विधायक का नाम नहीं लिया है।

सेक्स रैकेट मामले में मास्टरमाइंड अभी भी फरार चल रहा है। मुजफ्फरनगर शेल्टर होम रेप केस के चौंकाने वाले मामले के एक साल बाद, बिहार में एक सेक्स रैकेट में राजनेताओं के शामिल होने का एक और घिनौना मामला सामने आया है। सेक्स रैकेट मामले में पीड़ितों में से एक जिसका खुलासा दो दिन पहले आरा में हुआ था।

ख़बरें यहाँ भी-

मौसम विभाग ने बिहार के लिए जारी किया अलर्ट, 72 घंटों में भारी वर्षा का अनुमान

रैकेट से छुड़ाई गई लड़कियों ने धारा 164 के तहत कोर्ट में अपने बयान दर्ज करवाए और कहा कि उन्हें इंजीनियर के आवास और फिर होटलों में ले जाया जाता था।

आरा के एसपी सुशील कुमार ने कहा कि मामले में जांच मजबूत है और कहा गया है कि नाबालिग ने अभी तक किसी भी विधायक का नाम नहीं लिया है। हालांकि, वह इस बात से सहमत हैं कि लड़की ने कहा था कि उसे एक विधायक से मिलने के लिए कहा जाता था।

1 साल में दो ऐसी घटनाएं 

पिछले साल ही मुजफ्फरपुर शेल्टर होम घटना ने तूल पकड़ा था और इसको लेकर बिहार में जबरदस्त सियासी उठापटक हुई थी जहाँ विपक्ष ने इस मुद्दे पर सीधे सीधे नितीश कुमार को जिम्मेदार ठहराया था और सारी फसाद का जड़ मुख्यमंत्री को ही बताया था।

नेशन भारत फेसबुक पर भी 

पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करें 

मुद्दे को तूल पकड़ता देख सरकार ने केस को सीबीआई के हवाले कर दिया और अब इसकी जांच स्वतंत्र रूप से सीबीआई कर रही है।

एक साल में दो ऐसी घटनाओं का होना और उसमे सफेदपोश का शामिल होना एक दाग है बिहार की राजनिती पर।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here