छात्रों की रिहाई की मांग को लेकर छात्र परिषद ने फूंका मुख्‍यमंत्री का पुतला

0
PROTEST
PROTEST

महिला अभ्‍यर्थियों की शारीरिक ऊंचाई के मापदंड में वृद्धि के खिलाफ जन अधिकार छात्र परिषद के गिरफ्तार छात्रों की बिना शर्त रिहाई की मांग को लेकर कल छात्र और युवा परिषद ने राजधानी पटना के कारगिल चौक पर मुख्‍यमंत्री नीतीश कुमार का पुतला फूंका।

ज्ञात हो कि शनिवार को दारोगा बहाली में महिला अभ्‍यर्थियों शारीरिक उंचाई के पूर्व निर्धारित मापदंड 152 सेंटीमीटर करने की मांग को लेकर जन अधिकार छात्र परिषद द्वारा मुख्‍यमंत्री सचिवालय के सामने शांतिपूर्ण प्रदर्शन किया गया था।

इसके बाद मुख्‍यमंत्री सचिवालय के विशेष कार्य पदाधिकारी को अपना ज्ञापन सौंप कर लौट रहे छात्र परिषद के प्रदेश अध्‍यक्ष गौतम आनंद, प्रदेश उपाध्‍यक्ष आलोक कुमार, रोहन कुमार, पटना विवि अध्‍यक्ष शौकत अली और पटना कॉलेज के इलेक्टेड काउंसलर नीरज कुमार को सचिवालय पुलिस थाना द्वारा एक साजिश के साथ गिरफ्तार कर जेल भेज दिया गया।

इसको लेकर आज जन अधिकार छात्र परिषद और युवा परिषद के छात्रों ने संपूर्ण बिहार के विश्‍वविद्यालयों और जिला मुख्‍यालयों समेत पटना के कारगिल चौक पर मुख्‍यमंत्री नीतीश कुमार का पुतला फूंका।

ख़बरें यहाँ भी 

महिलाओं को सुरक्षा देने और शराबबंदी में नाकाम है नीतीश सरकार : अखलाक अहमद

मौके पर छात्र परिषद के प्रदेश उपाध्‍यक्ष मनीष कुमार ने कहा कि निर्दोष छात्रों पर पुलिसिया जुल्‍म के खिलाफ हमारा आंदोलन जारी रहेगा।

बिहार की पुलिस अपराधियों के साथ मिलकर काम कर रही है और छात्रों पर झूठे केस मुकदमों में फंसाकर उनका भविष्‍य बर्बाद कर रही है।

वहीं, पुतला दहन में शामिल जाप (लो) राष्‍ट्रीय महासचिव प्रेमचंद सिंह और राजेश रंजन पप्पू ने कहा कि सरकार को बिना शर्त गिरफ्तार छात्रों पर जो मुकदमा वापस लेते हुए छात्रों को रिहा करना होगा।

यदि पुलिस और राज्‍य सरकार ऐसा 3 दिनों के अंदर नहीं करती है तो जन अधिकार पार्टी राज्‍य भर में जेल भरो आंदोलन को बाध्‍य होगी। उन्‍होंने कहा कि नीतीश कुमार को अपने आंखों का इलाज कराना चाहिए।

उन्‍हें देखने के चश्‍में और तरीक को बदलना चाहिए। गिरफ्तार छात्र कोई अपराधी नहीं है, जिसकी गिरफ्तारी मेमोरेंडम देने की बाद की गई है। जिस तरह नीतीश कुमार 1974 के आंदोलन में आंदोलन कारी छात्र थे।

ये भी आज आंदोलनकारी छात्र हैं। इनकी रिहाई के साथ बिहार के बेटियों के साथ मुख्‍यमंत्री को न्‍याय करना चाहिए और उनकी शारीरिक ऊंचाई के बढे मापदंड 160 से घटाकर पूर्व निर्धारत 152 सेंटीमीटर करना होगा, वरना नीतीश कुमार बिहार के नौजवा, किसान, महिला और छात्रों के कोपभाजन बनेंगे।

नेशन भारत फेसबुक पर भी

पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करें  

पुतला दहन में जाप (लो) राष्‍ट्रीय महासचिव प्रेमचंद सिंह, राजेश रंजन पप्पू, अकबर अली परवेज, राघवेंद्र कुशवाहा, अरुण कुमार, संदीप समदर्शी  युवा परिषद एवं छात्र परिषद से सनी कुमार, आज़ाद चांद, मनीष कुमार, शशांक कुमार मोनू, आशीष कुमार, आशीष विकाश, विकाश वंशी, विकी कुमार, विनय कुमार, रौशन कुमार, प्रिया कुमारी, रजनीश तिवारी, रमेश राम, प्रभात कुमार, नीतीश कुमार, गौरव कुमार, मनोज कुमार, अखिलेश कुमार, दिलीप यादव, निशांत कुमार, निरंजन यादव, धर्मेंद्र कुमार, क्रांतिवीर कुंदन, अविनित कुमार, पप्पू कुमार, प्रेम कुमार, मुलायम कुमार, राहुल रूद्र, आदित्य मिश्रा, अरविंद कुमार, कुंदन यादव, संदीप कुमार एवं अन्य लोग उपस्थित रहे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here