अकेले पड़े ‘लालू’ , चुनाव के नतीजे आने के बाद से परिवार समेत किसी नेता ने नहीं की मुलाकात

0

लोकसभा चुनाव में मिली करारी हार के बाद से राजद के खेमे में खासी निराशा है. हार का असर पटना के अलावा रांची तक देखने को मिल रहा है. पार्टी की स्थापना के बाद से ये पहला मौका है जब राजद का लोकसभा चुनाव में खाता तक न खुला हो. बिहार में लालू की पार्टी के महागठबंधन को 40 में से सिर्फ एक सीट मिली. वह सीट भी कांग्रेस ने जीती.

 

 

लालू को अपने वार्ड में अत्यधिक बेचैन देखा गया और उन्हें नींद न आने की भी शिकायत थी. चिकित्सकों के अनुसार, अब सब कुछ सामान्य है. ऱिम्स में भर्ती लालू प्रसाद का रविवार सुबह अचानक से दम घुटने लगा था और वो चिल्लाने लगे थे. इसके बाद डॉक्टरों ने लालू प्रसाद के ब्लड प्रेशर की जांच की थी जो सामान्य निकला था. हालांकि, जांच में शुगर थोड़ा बढ़ा हुआ पाया गया था.  उन्हें कमरे से बाहर निकालकर खुले में आधे घंटे तक बिठाया गया, जिसके बाद उनकी हालत सामान्य हुई. वह अपना भोजन और दवा ले रहे हैं और उनका स्वास्थ्य भी ठीक है.

 

लोकसभा चुनाव के नतीजे आने के बाद से लालू यादव परेशान चल रहे हैं. नतीजों के बाद से जहां लालू परेशान हैं और वह खाना भी छोड़ चुके थे, वहीं पांच दिन बाद तक उनसे पार्टी के किसी सीनियर नेता या फिर उनके घरवालों ने भी मुलाकात नहीं की है. रांची के रिम्स में भर्ती लालू यादव की खराब तबियत के बारे में सभी को जानकारी है, लेकिन लोकसभा चुनाव के  नतीजों के बाद से अब तक उनसे मुलाकात करने कोई भी नहीं पहुंचा है. विश्वस्त सूत्रों की मानें तो इस हार से लालू हताश और चिंतित हैं, क्योंकि पार्टी की स्थापना के बाद से ये पहला मौका है जब राजद का लोकसभा चुनाव में खाता तक न खुला हो. हार के कारण ही उनकी तबियत भी अचानक बिगड़ गई.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here