इसरो के साथ टूटा चंद्रयान 2 ‘लैंडर’ का संपर्क, प्रधानमंत्री ने हौसला बढ़ाया

0
CHANDRAYAAN 2
CHANDRAYAAN 2

आज सुबह करीब 2:30 बजे बेंगलुरु स्थित इसरो सेंटर में उस समय सन्नाटा पसर गया जब चंद्रयान 2 ”लैंडर” का संपर्क इसरो से टूट गया और इसरो का सॉफ्ट लैंडिंग का सपना चकनाचूर हो गया।

आँखों से आंसू निकलते इसरो चीफ को जब प्रधानमंत्री ने गले लगाया और यह सांत्वना दी कि उन्होंने जो भी कुछ अबतक किया है वो बिलकुल भी कम नहीं है और इसके लिए उनकी एवं इसरो की सराहना आगे वाली पीढ़ी भी करते रहेगी, माहौल कुछ ऐसा था जैसे लग रहा था कि इस नाकामयाबी हाथ लगने के बाद भी सबकुछ सामान्य है और भविष्य में भारत इससे भी बड़ी उछाल मारने को तैयार है।

ख़बरें यहाँ भी –

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पहुंचे बेंगलुरु, 74 बच्चों संग देखेंगे चंद्रयान की लाइव लैंडिंग

बता दें कि चन्द्रमा की सतह से बस 2.1 किलोमीटर की दूरी पर ही लैंडर ”विक्रम” का संपर्क इसरो से टूट गया।

इसरो डाटा का अध्ययन करने में जुट गयी परन्तु कड़ी मेहनत के बाद भी संपर्क स्थापित नहीं किया जा सका और परिणामस्वरुप जब इसरो चीफ इस बात की घोषणा कर रहे थे तब उनकी आँखों से आंसू छलक गया और उन्होंने अपने सिर को नीचे कर लिया।

प्रधानमंत्री ने इसरो चीफ को गले लगाते हुए यह सन्देश दिया की असफलता से घबराने की ज़रूरत नहीं है और यह कोई आसान काम नहीं था जिसे इसरो ने अबतक अंजाम दिया है और उम्मीद और भरोसे के साथ उन्होंने इसरो को बधाइयां दी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here