जुगाड़ के नाव पर फ़ोटो शूट करवाने पानी में उतरे सांसद जी, संतुलन बिगड़ा गिर गए पानी में

0

नेशन भारत, सेंट्रल डेस्क: लगातार हुई बारिश के बाद राजधानी पटना 80 फीसदी डूब गया है. पॉश इलाकों से अभी तक जलनिकासी संभव नहीं हो पाया है. उपमुख्यमंत्री सुशील मोदी ने दावा किया था कि 24 घंटे में सभी इलाकों से पानी निकाल दिया जाएगा लेकिन अब तो 36 घंटा से अधिक होने को है और स्थिति जस की तस है.

बुधवार को पाटलिपुत्र से भाजपा सांसद और पूर्व केंद्रीय राज्य मंत्री रामकृपाल यादव मसौढ़ी में बाढ़ पीड़ितों का जायजा लेने पहुंचे थे. सांसद जी जुगाड़ के नाव के सहारे फ़ोटो शूट करवाने पानी में उतरे और साथ में कुछ बच्चों को भी जुगाड़ के नाव में चढ़वा लिए थे. कुछ ही दूर जाने पर नाव का संतुलन बिगड़ा और सांसद जी समेत अन्य लोग पानी में गिर गए. गनीमत थी कि नाव को किनारे से कुछ लोग रस्सी से बंधे हुए थे. आनन-फानन में स्थानीय लोग पानी में कूदे और सांसद जी को सुरक्षित बाहर निकाल लाये.

इसे भी पढ़ें: रूफ फाउंडेशन ने चलाया राहत अभियान, लोगों ने दिल से दी दुआ, कहा- थैक्यू सर

अब इस पूरे प्रकरण पर सांसद रामकृपाल यादव का कहना है कि सरकार का ध्यान सिर्फ पटना शहर पर है. जबकि सुदूर इलाकों में भी लोग रो रहे हैं, खाने के अभाव में मवेशी मर रहे हैं. आगे उन्होंने कहा कि पीड़ितों का जायजा लेने के लिए मुझे भी जुगाड़ के नाव का सहारा लेना पड़ा था.

उन्होंने आगे सफाई देते हुए कहा कि “मैं कोई छोकड़ा नहीं हूँ जो फ़ोटो शूट करवाऊंगा. लोगों के आग्रह पर चला गया था, बस जान बच गई. दो दिनों से प्रशासन से नाव की गुहार लगा रहा हूं लेकिन कोई सुन नहीं रहा है. पटना जिलाधिकारी मेरा फ़ोन तक नहीं उठा रहे हैं. ये जलजमाव प्रशासनिक विफलता का परिणाम है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here