प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पहुंचे बेंगलुरु, 74 बच्चों संग देखेंगे चंद्रयान की लाइव लैंडिंग

0
CHANDRAYAAN 2
CHANDRAYAAN 2

आज भारत के लिए एक ऐतिहासिक पल है क्योंकि आज रात करीब 1:30 बजे चंद्रयान “लैंडर” चंद्रमा की सतह पर कदम रखेगा और इसी के साथ भारत पहला देश बन जायेगा जिसने चांद की सतह पर चंद्रयान भेजा है।

NARENDRA MODI
NARENDRA MODI

पूरे भारतवर्ष में उत्सुकता की एक लहर है और उन लहरों में से एक लहर है प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की जो अभी से कुछ देर पहले ही बेंगलुरु के इसरो सेन्टर पहुंच चुके हैं और वो वहीं से चंद्रयान को चंद्रमा की सतह पर लैंड करते दिखेंगे।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ चंद्रयान को लैंड होते 74 बच्चे भी देखेंगे जो कि बेंगलुरु अभी से कुछ देर पहले पहुंच चुके हैं।

खबरें यहां भी-

शेहला राशिद के खिलाफ राजद्रोह का मुकदमा दर्ज, गलत सूचना फैलाने का है आरोप

आज रात करीब 1:30 बजे चंद्रयान “लैंडर” चंद्रमा की सतह पर कदम रखेगा।

बता दें कि लैंडिंग के वक़्त की आखिरी 15 मिनट काफी महत्वपूर्ण होगी क्योंकि इस समय “लैंडर” की गति को 7 किलोमीटर प्रति सेकंड से घटाकर 2 किलोमीटर प्रति सेकंड पर लाना होगा जो काफी चुनौतीपूर्ण होगा भारतीय वैज्ञानिकों के लिए।

नेशन भारत फेसबुक पर भी

पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

गौरतलब है कि इस तरह की गति कम करने का काम हमारे वैज्ञानिकों ने और इसरो ने पहले कभी नहीं किया है और यह काफी चुनौतीपूर्ण भी है।

कुछ सालों पहले इजराइल की चंद्रयान सतह पर पहुंचने के साथ ही निष्क्रिय हो गयी थी क्योंकि वहां के वैज्ञानिक गति कम करने में सक्षम नहीं रहे थे।

गति को कम करने का काम चंद्रयान में लगा थ्रस्ट(thrust) करता है जो एक समय गति बढ़ाने का भी काम करता है लेकिन इसे उल्टे दिशा में प्रयोग में लाकर गति कम की जाती है।

रेकॉर्ड की बात करें तो पहले 109 परीक्षणों में 41 परीक्षण नाकाम रहे हैं और वो भी बस गति कम नहीं होने की वजह से।

इसलिए आज चंद्रयान के लिए आखिरी 15 मिनट साँसों को थाम देने जैसा साबित होने वाला है।
इन्हीं 15 मिनट में 130 करोड़ भारतीयों की भी सांस अटकी रहेगी क्योंकि अब तक चंद्रयान ने अच्छा प्रदर्शन किया है

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here