26 सितंबर को पूरे राज्य में पप्पू यादव के नेतृत्व में जाप का धरना : एजाज़ अहमद

0
AEZAZ AHMAD
AEZAZ AHMAD

जन अधिकार पार्टी लोकतांत्रिक के राष्ट्रीय प्रधान महासचिव एजाज अहमद ने आरोप लगाया कि बिहार में डबल इंजन की सरकार पूरी तरह से विफल है ,और इस विफलता में कहीं ना कहीं भारतीय जनता पार्टी का बहुत बड़ा योगदान है ।  केंद्र सरकार के द्वारा बिहार को विकास एवं राहत के लिए जो राशि आवंटित की जानी चाहिये थी ,वह राशि आवंटित  नहीं की जा रही है ।

कहीं ना कहीं राजनीति लाभ हानि और छुपा- छुपी का खेल दोनों  ओर से चल रहा है और इस खेल में गिरिराज सिंह जो केंद्रीय मंत्री हैं उसकी अगुवाई कर रहे हैं , क्या यह बात सही नहीं है कि केंद्र सरकार ने बिहार के बाढ़ पीड़ितों के लिए जो सहायता राशि दी जानी चाहिए थी वह अब तक नहीं दी  है और ना ही सूखा प्रभावित क्षेत्रों को राहत देने के लिए कोई सहायता राशि ही दी गई है।

इतना अवश्य हो रहा है कि केंद्रीय  मंत्री के माध्यम से राजनीतिक मर्यादाओं को भाजपा के द्वारा तार-तार किया जा रहा है,  जब गिरिराज सिंह को यह बात समझ में आ रही है कि बिहार सरकार उनके क्षेत्र बेगूसराय के साथ सौतेला व्यवहार कर रही है तो  वह क्यों नहीं   भाजपा के केंद्रीय नेतृत्व से दबाव बना कर नीतीश  सरकार से अलग होने का फैसला लेते हैं ।

ख़बरें यहाँ भी-

हर वर्ग के लोगों के जुड़ने से बढ़ रहा है वीआईपी पार्टी का जनाधार: मुकेश सहनी

एक तरफ भाजपा  के ही  बिहार के मंत्रीगण  यह कहते हैं कि बिहार में नीतीश कुमार के नेतृत्व में सरकार बेहतर ढंग से कार्य कर रही है , तो दूसरी ओर केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह अपने ही सरकार पर दोषारोपण करके नीतीश कुमार को ऐसी व्यवस्था के लिए जिम्मेदार ठहरा रहे हैं, क्या बिहार की जनता इतनी मूर्ख है यह बात नहीं समझ रही है कि अगर भाजपा को सत्ता सुख से मोह नहीं होता तो वह कब का बिहार सरकार से अलग हो गई होती ।

भाजपा सत्ता सुख के मोह  बिहार के 11करोड  लोगों को  रसातल में भेजने पर तुली हुई है और ऐसी स्थिति के लिए  नीतीश कुमार से ज्यादा केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार दोषी है ।जो कहीं ना कहीं  केन्द्रीय  सहायता में कोताही बरत रही है।

तो दूसरी ओर अपने ही केंद्रीय मंत्री से राज्य सरकार की आलोचना करवा कर आम जनता की वाहवाही भी लूटना चाह रही है , यह भाजपा की दोहरापन की नीति है और ऐसी नीतियों को राज्य की जनता अच्छी तरह से जान पहचान चुकी है।

नीतीश कुमार की पार्टी जनता दल यू  तो उन्माद की की  राजनीति के खिलाफ बयानबाजी तो करती है, लेकिन वह केंद्र में नरेंद्र मोदी सरकार को समर्थन देकर कहीं ना कहीं नफरत को बढ़ावा दे रही है।

नेशन भारत फेसबुक पर भी

पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करें  

एजाज  ने आगे बताया कि जन अधिकार पार्टी लोकतांत्रिक राष्ट्रीय अध्यक्ष श्री पप्पू यादव के नेतृत्व में 26 सितंबर 2019 को पटना के गर्दनीबाग में केंद्र सरकार की दोहरी नीतियों और भाजपा -जदयू सरकार के द्वारा बिहार की जनता को बाढ़ और सुखाड़ के राहत कार्यों में बरती जा रही अनियमितता तथा  नये मोटर वाहन काला कानून को वापस लेने की मांग को लेकर पटना सहित पूरे राज्य भर में धरना देगी ,और उन नीतियों का पर्दाफाश करेगी जो उन्माद और नफरत के माहौल को खड़ा करके देश के लोगों को मंदी और महंगाई मे भयभीत  रखना चाहते हैं ।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here