सामूहिक विवाह में 18 जोड़े हुए एक दूजे के

0

पीपराकोठी/पू0च0। पीपराकोठी सेवा समिति ने बुधवार को स्थानीय बेसिक स्कूल के मैदान में दहेज विरोधी सामूहिक विवाहोत्सव धूमधाम से आयोजित किया। जिसमें वैदिक मंत्रोच्चार एवं कुरान की आयतों के बीच 18 जोड़े एक दूजे के हुए। इसके बाद नव दम्पत्तियों को प्रमाण पत्र एवं उपहार के साथ अशीवार्द देकर विदा किया गया।

विवाह समारोह के दौरान 16 हिन्दू जोड़ों का पंडित ने वैदिक मंत्रोच्चार के साथ विवाह सम्पन्न कराया। वहीं दो मुस्लिम जोडे का विवाह मौलवी ने कुरान की आयतो के साथ निकाह पढ़ाया। बरात दोपहर तीन बजें मुर्दाचक स्कूल से निकलकर सीधे बेसिक स्कूल के मैदान में गाजे-बाजे के साथ पूरे धूमधाम से पहुंची।

जहां स्थानीय लोगों ने बरातियों का भव्य स्वागत किया। इस ग्रामीण क्षेत्र में पहली बार इतने बड़े सामूहिक विवाह का आयोजन किया गया था। जिसमें स्थानीय लोगों ने काफी जोशो खरोश से भाग लिया। जहां-जहां से बरात गुजरी, वहां महिलाओं से लेकर युवाओं ने दूल्हा व बरातियों का फुलों से अभिवादन किया। पूरे इलाके में हर्ष का माहौल था। देखने में लग रहा था कि हर व्यक्ति वर और कन्या पक्ष का है।

स्थानीय लोगों में सहयोग का भाव दिखा। बरातियों की सुविधाओं का व्यापक इंतजाम किया गया था। मौके पर वक्ताओं ने दहेज रूपी कलंक को मिटाने पर जोर दिया। मुख्य अतिथि ने कहा कि कन्यादान सबसे बड़ा दान होता है। इस कार्य के लिए हर सक्षम व्यक्ति को सहयोग करना चाहिए।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here