सुचित्रा मिश्रा हत्याकांड के आरोपी शशिभूषण मेहता बीजेपी में हुए शामिल, कार्यालय बना रणक्षेत्र

0

नेशन भारत, सेंट्रल डेस्क: 11 मई 2012 को एक निजी स्कूल की शिक्षिका सुचित्रा मिश्रा की संदेहास्पद स्थिति में मौत हो गई थी। स्कूल के निदेशक शशिभूषण मेहता पर सुचित्रा की हत्या का आरोप लगा। पुलिस ने आरोपी को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया था। फिलहाल मामला कोर्ट में चल रहा है और आरोपी शशिभूषण जमानत पर बाहर हैं। शशिभूषण मेहता ने गुरुवार को बीजेपी का दामन थाम लिया।

इसे भी पढ़ें: रूफ फाउंडेशन ने चलाया राहत अभियान, लोगों ने दिल से दी दुआ, कहा- थैक्यू सर

रांची के ऑक्सफोर्ड स्कूल की वार्डन सुचित्रा मिश्रा हत्याकांड में एक बड़ा खुलासा करते हुए पुलिस ने ऑक्सफोर्ड स्कूल के डायरेक्टर शशिभूषण प्रकाश मेहता के साथ दो अन्य लोगों को गिरफ्तार कर लिया था। पुलिस की तफ्तीश में यह बात सामने आई थी कि शशिभूषण मेहता का सुचित्रा के साथ नाजायज संबंध था और वह उन दिनों उन पर शादी का दबाव बना रही थी। सुचित्रा के पति की एक हादसे में बहुत पहले ही मौत हो चुकी थी और उस के दो बच्चे भी थे।

इसे भी पढ़ें: 1920 और राज के बाद अब विक्रम भट्ट की नई हॉरर फिल्म ‘घोस्ट’18 अक्टूबर को होगी रिलीज

जेल से जमानत पर बाहर आने के बाद शशिभूषण मेहता राजनीति में आ गए और फिलहाल आजसू में थे। लेकिन 2019 के विधानसभा चुनावों की घोषणा होने के बाद मेहता ने बीजेपी में जाने का मन बना लिया। गुरुवार को मेहता को बीजेपी ने मेहता को शामिल कर लिया। इसके पहले सुचित्रा के दोनों बेटे अभिषेक मिश्रा और आशुतोष मिश्रा अपनी मामी के साथ प्रदेश भाजपा कार्यालय पहुंचे थे और इस ज्वाइनिंग का विरोध किया था।

अभिषेक ने प्रदेश भाजपा उपाध्यक्ष प्रदीप वर्मा से मिलकर कहा था कि वे स्वयं भाजपा के सदस्य हैं और हमारी मां के हत्यारे को पार्टी में शामिल न कराएं। इससे पार्टी की छवि धूमिल होगी और हमारा विश्वास टूटेगा। अभिषेक ने इस बाबत प्रदीप वर्मा को लिखित रूप से आग्रह पत्र सौंपा था। बावजूद इसके, आज बीजेपी के वरीय नेताओं और प्रदेश अध्यक्ष लक्ष्मण गिलुआ की मौजूदगी में शशिभूषण ने बीजेपी का दामन थाम लिया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here