कुलपति के तानाशाही के खिलाफ पाटलिपुत्र विश्‍वविद्यालय में एकजुट हुए छात्र संगठन

0
patliputra university
patliputra university

पाटलिपुत्र विश्‍वविद्यालय में कुलपति और छात्र संगठनों के बीच टकराव गहराता ही जा रहा है। इस क्रम में आज पाटलिपुत्र विश्‍वविद्यालय के तमाम छात्र संगठनों ने एकजुटता दिखाते हुए विकाशसील छात्र मोर्चा, छात्र राजद, छात्र रासपा, छात्र जदयू के तमाम सदस्यों और छात्र नेताओं ने बैठक कर विवि तानाशाह कुलपति के रवैये पर चर्चा की।

इस दौरान बैठक को संबोधित करते हुए विकासशील छात्र मोर्चा के प्रदेश अध्यक्ष विकास बॉक्सर ने बताया कि हम छात्रों को कुलपति द्वारा हर एक चीज पर प्रतिबंध लगाया जा रहा है।

हम लोग जब भी शिक्षा को लेकर, उचित व्यवस्था को लेकर, छात्रों के नामांकन कि समस्याओं को लेकर व विश्वविद्यालय में हो रही धांधली घोटाले को लेकर भ्रष्‍ट घोटालेबाजों अधिकारियों को लेकर औऱ कुलपति द्वारा के पूर्व में हुए घोटाले को लेकर छात्रों के हक की लड़ाई को लेकर अपनी आवाज उठाते हैं।

ख़बरें यहाँ भी-

माफिया राज को बढ़ावा देने के लिए सरकार ने अपनाया बंदी का फॉर्मूला : अनिल कुमार

तब-तब यह भ्रष्ट कुलपति अपने  पुलिस प्रशासन, विश्वविद्यालय प्रशासन, के द्वारा हमें डराने धमकाने का काम करते हैं, जो लोकतंत्र की खुलेआम हत्या है।

उन्‍होंने कहा कि विश्‍वविद्यालय के भ्रष्ट कुलपति गुलाबचंद राम जयसवाल, जो कि अवध विश्वविद्यालय से 12 करोड़ की घटना में पहले से ही संलिप्त हैं , ने हाल ही में छात्र संघ के नेताओं पर झूठा मुकदमा दर्ज कराया है।

इससे पहले भी जब मैंने कुलपति के खिलाफ आवाज उठाने की कोशिश की, तब मुझे जान से मारने की धमकी कुलपति द्वारा दिया गया था।

उसके बाद हम छात्र नेताओं की तस्वीर के साथ विश्‍वविद्यालय गेट पर यह लिखा जाता है कि इन छात्रो का विश्‍वविद्यालय में प्रवेश निषेध है।

बैठक में छात्र राजद के प्रदेश उपाध्यक्ष अनुराग हर्ष ने बताया कि पाटलिपुत्र विश्वविद्यालय में नामांकन एजेंसी कुलपति के किसी करीबी का है जिसके द्वारा वह नामांकन के तौर पर भारी धांधली कर रहे हैं और फ़ोटो लगाकर लोकतंत्र कि हत्या कर रहे है।

इसके समक्ष छात्र जदयू के प्रदेश उपाध्यक्ष कुकू यादव ने इस बैठक में यह कहा कि भ्रष्ट कुलपति जो पहले से ही करोड़ों के घोटाले में संलिप्त है और जिनकी घोटाले की चर्चा राजभवन तक जा पहुंची है वह हम छात्रों की आवाज को दवा कर हमपे पूरी तरह प्रतिबंध लगा रहे हैं उसके ख़िलाफ़ आर पार कि लड़ाई हम सभी छात्र संगठन लड़ेंगे।

इसके बाद विकासशील छात्र मोर्चा के प्रवक्ता राहुल कुमार और छात्र रासपा के अध्यक्ष प्रिंस कुमार ने यह कहा कि अब इसके बाद वे पाटलिपुत्र विश्वविद्यालय में अपने घूसखोर अधिकारियों पदाधिकारियों और अपने संगी संबंधियों के साथ विश्वविद्यालय को घोटाले बाजी का अड्डा बनाना चाहते हैं ।

नेशन भारत फेसबुक पर भी 

पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करें 

इस बैठक में मौजूद गोविंद कुमार,आकाश सिंह , छात्र मोर्चा के प्रवक्ता राहुल कुमार समेत सभी छात्र नेताओं ने यही निर्णय लिया है कि हम छात्रों को जिस तरीके से लोकतंत्र में रोका टोका जा रहा है और साथ ही विश्वविद्यालय में घुसने पर निषेध लगा दिया गया है।

उसके खिलाफ हम सभी छात्र एकजुट होकर राजभवन जाने का काम करेंगे और साथ ही इसके समक्ष उच्च न्यायालय तक भी जाएंगे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here