शिक्षकों के मान – सम्‍मान को ठेंस पहुंचा रही है राज्‍य सरकार : शिक्षक संघ

0
teachers union
teachers union

बिहार राज्‍य उच्‍चतर माध्‍यमिक अतिथि शिक्षक संघ ने आज प्रदेश की सरकार पर शिक्षकों के मान – सम्‍मान को ठेंस पहुंचाने का आरोप लगाया।

पटना के मां समरिया गेस्‍ट हाउस में आयोजित संघ की बैठक में मुख्‍य रूप ये प्‍लस 2 अतिथि शिक्षकों की सेवा 60 वर्ष नियमित करने की मांग को अभी तक न विचार करते हुए STET 2019 परीक्षा में कार्यरत 4203 अतिथि शिक्षक के पद को रिक्‍त दिखाते हुए परीक्षा का घोषणा सरकार का असंवैधानिक निर्णय है, इसकी निंदा की गई।

बैठक की अध्‍यक्षता संघ के प्रदेश अध्‍यक्ष नरेंद्र कुमार और संचालन प्रदेश प्रवक्‍ता तरन्‍नूम हफीज कर रहे थे। बैठक में कहा गया कि NCTE के प्रावधानों की धज्जियां उड़ाते हुए प्‍लस 2 शिक्षक के लिए STET 2019 आयोजन करना तुगलकी फरमान संघ की ओर करार दिया गया।

ख़बरें यहाँ भी-

झारखण्ड में फिर हुई लिंचिंग की घटना एक की मौत, गौ हत्या के शक में हुई युवक की पिटाई

संघ की ओर से बार – बार मुख्‍यमंत्री को डेलीगेट के साथ मिलकर वार्ता करने के अपील के बावजूद अभी तक सीएम की ओर से वार्ता का आमंत्रण न आना, कहीं न कहीं लोकतंत्र की हत्‍या प्रतीत होती है और शिक्षकों के मान सम्‍मान में धब्‍बा लगने का संकेत है।

इसलिए संघ के अध्‍यक्ष नरेंद्र कुमार ने सर्वसम्‍मति से 23 सितंबर 2019 को समय 11 बजे से 5 बजे तक राजधानी पटना के गर्दनीबाग धरना स्‍थल पर एकदिवसीय महाधरना की घोषणा की है। इस महाधरना में बिहार के सभी 4203 कार्यरत अतिथि शिक्षक उपवास में रहेंगे।

गौरतलब है कि नियमितकरण की मांग को लेकर शिक्षा मंत्री के द्वारा डेलीगेशन को बुलाकर पिछले महीने एक सप्‍ताह के अंदर 60 वर्ष तक की सेवा को नियमित करने की आधिकारिक घोषणा का आश्‍वासन दिया था। लेकिन शिक्षा मंत्री बाद में अपनी बातों से मुकर गए।

बिहार के 4203 कार्यरत प्‍लस 2 अतिथि शिक्षक का भविष्‍य शिक्षा विभाग के द्वारा चौपट किया गया जा रहा है और इनकी जिंदगी के साथ खिलवाड़ किया जा रहा है। इसलिए 4203 अतिथि शिक्षक अपने भविष्‍य को लेकर मजबूर हैा। उपवास में रहकर महाधरना पर बैठने को।

नेशन भारत फेसबुक पर भी 

पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करें 

इस बैठक में मुख्‍य रूप से प्रदेश महासचिव डॉ विपिन बिहारी, माधुरी कुमारी, खुशबू सिन्‍हा, कल्‍पना भारती, दिग्विजय कुमार, रवि रंजन कुमार आदि ने भाग लिया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here