क्राइम ब्रांच की जांच में हुआ बड़ा खुलासा, निजामुद्दीन मरकज में 9 लोग थे चीन से भी

0
निजामुद्दीन के मरकज मामले की जांच दिल्ली पुलिस की क्राइम ब्रांच कर रही है. इस मामले की जांच के दौरान क्राइम ब्रांच को पता चला है कि मरकज में 67 देशों से 2041 विदेशी आए थे जिनमें 9 लोग चीन से भी थे.
  • क्राइम ब्रांच ने विदेशियों की ये लिस्ट संबंधित एजेंसियों के साथ भी साझा की है और इनके दस्तावेजों के आधार पर इनकी लोकशन की जांच की जा रही है
  • जामुद्दीन मरकज के मामले में क्राइम ब्रांच ने निजामुद्दीन थाने के एसएचचो की शिकायत पर मरकज के प्रमुख मौलाना साद समेत 7 लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया है

नेशन भारत, सेंट्रल डेस्क: निजामुद्दीन के मरकज मामले की जांच दिल्ली पुलिस की क्राइम ब्रांच कर रही है. इस मामले की जांच के दौरान क्राइम ब्रांच को पता चला है कि मरकज में 67 देशों से 2041 विदेशी आए थे जिनमें 9 लोग चीन से भी थे. जी हां वो देश जहां से कोरोना नाम की ये खतरनाक बीमारी सामने आई. क्राइम ब्रांच के सूत्रों की माने तो इसमें ज्यादातर लोग इंडोनेशिया, बांग्लादेश और थाईलैंड से है. जांच में क्राइम ब्रांच का फोकस विदेशी लोगों पर है.

ज्यादातर विदेशी इन देशों से आए.

बांग्लादेश- 497
इंडोनेशिया- 553
मलेशिया- 118
किर्गिस्तान- 145
म्यांमार- 117
थाईलैंड- 151
चीन- 9
बाकी देश- 451

क्राइम ब्रांच ने विदेशियों की ये लिस्ट संबंधित एजेंसियों के साथ भी साझा की है और इनके दस्तावेजों के आधार पर इनकी लोकशन की जांच की जा रही है. कोरोना से निपटने के लिए देश की राजधानी ही नहीं बल्कि देश का हर राज्य लगा हुआ है. मरकज मामले की जांच में जुटी क्राइम ब्रांच की टीम देश में सभी राज्यों की पुलिस से इस लिस्ट को साझा किया है. इसके अलावा एयरपोर्ट को भी जानकारी दी गई है. इतना ही नहीं मरकज के लोग जिन जिन इलाकों में गए है वहाँ भी छापेमारी की जा रही है. जो भी लोग मिल रहे है उन्हें क्वॉरंटीन सेंटर भेजा जा रहा है और उनकी जांच भी की जा रही है.

क्राइम ब्रांच के सूत्रों के माने तो भी विदेशी मरकज में आए थे उनमें से ज्यादातर टूरिस्ट वीजा पर आए थे. ऐसे में वो धार्मिक कार्यक्रम में कैसे शामिल हुए ये अपने आप में एक बड़ा सवाल है. निजामुद्दीन मरकज के मामले में क्राइम ब्रांच ने निजामुद्दीन थाने के एसएचचो की शिकायत पर मरकज के प्रमुख मौलाना साद समेत 7 लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया है लेकिन मौलाना साद है कहा ये अभी किसी को नहीं पता.

आपको बता दे कि मरकज को खाली करवाने में प्रशासन को 36 घंटे का समय लगा और करीब 2300 से ज्यादा लोगों को निकाला गया. सभी को क्वारनटीन सेंटर भेजा गया है और कुछ को अस्पताल में रखा गया है.

Also Read:Breaking News | Nizamuddin Markaj | Lockdown News in India

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here