उन्नाव केस अब सीबीआई के हाथ में, 20 लोगों के खिलाफ एफआईआर दर्ज़

0
KULDEEP SINGH SENGER
KULDEEP SINGH SENGER

उन्नाव मसले पर सड़क से लेकर संसद तक हंगामा है, सभी पीड़िता के लिए न्याय की बात कह रहे है, देश के तमाम नेताओ के बोल आ रहे हैं की केंद्र सरकार को इस मसले पर कड़ी से कड़ी कार्रवाई करनी चाहिए, फेसबुक के वाल पर भी भावनाओं का बाज़ार गर्म है और सभी भाजपा के निलंबित विधायक कुलदीप सिंह पर कार्रवाई की मांग कर रहे हैं।

इसी बीच सीबीआई ने इस मामले को अपने हाथ में ले लिया है और 20 लोगों के खिलाफ एफआईआर भी दर्ज़ कर दिया है जिसमें गंभीर धाराएं लगाई गयी हैं बलात्कार और ह्त्या के आरोपी कुलदीप सिंह सेंगर पर, सीबीआई ने निलंबित विधायक पर ह्त्या, ह्त्या की साजिश रचना, सबूत मिटाने का मामला दर्ज़ किया है।

ख़बरें यहाँ भी-

राज्यसभा में ऐतिहासिक तीन तलाक बिल पास, पक्ष में 99 खिलाफ में 84 वोट पड़े

सीबीआई इस मामले ने आज रायबरेली में दुर्घटनास्थल पर जा सकती है जहां दुर्घटना का मुआयना किया जाएगा, सीबीआई ने यह साफ़ निर्देश दिया है की जो भी टीम छानबीन करने रायबरेली जायेगी वो रायबरेली के गुरुबक्शसिंह थाने से भी दुर्घटना की पूछताछ करेगी।

क्या है एफआईआर में?

एफआईआर पीड़िता के चाचा द्वारा दी गई शिकायत पर दर्ज किया गया था, जो वर्तमान में रायबरेली की जेल में बंद है।

शिकायतकर्ता ने आरोप लगाया है कि सेंगर के आदमी विधायक के खिलाफ बलात्कार का मुकदमा वापस लेने के लिए उनके परिवार को धमकी देते थे, अन्यथा उन्हें मार देने की धमकी दी जाती थी।

“मेरे परिवार के सदस्यों ने मुझे बताया कि विधायक कुलदीप सिंह ने माखी गांव में एक सिंपल मिश्रा नाम के व्यक्ति के फोन से मेरे परिवार को फोन किया और मेरे परिवार को धमकी दी। वह कहते थे कि अगर आप जीना चाहते हैं, तो अदालत में दिए गए बयानों को बदल दें। ”शिकायतकर्ता ने आरोप लगाया।

उसने दावा किया कि धमकी भरे कॉल पुलिस अधिकारियों की मौजूदगी में किए गए थे।

पीड़िता के चाचा ने यह भी आरोप लगाया है कि सेंगर को भाजपा सरकार द्वारा बचा लिया गया था और पुलिस ने उन्हें सेंगर के आदमियों द्वारा दी गई धमकियों को देने के लिए कहा था।

अपनी शिकायत में उन्होंने कहा है, “जब मैं अदालतों में पेश होता था, तो आरोपी व्यक्ति कहते थे कि सरकार विधायक के साथ खड़ी है … मेरी पत्नी ने पुलिस को धमकियों के वीडियो सबूत दिखाए, उन्होंने कहा कि वह एक है बीजेपी विधायक और अभी भी पार्टी में हैं।

नेशन भारत फेसबुक पर भी 

पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करें 

मुद्दा क्या है ?

19 वर्षीय महिला ने उन्नाव के भाजपा विधायक कुलदीप सिंह सेंगर पर बलात्कार का आरोप लगाया था।

उन्होंने कहा कि बलात्कार के मामले की जांच सीबीआई द्वारा की जा रही है।

रविवार को रायबरेली में पीड़िता, उसके परिवार और वकील एक कार में यात्रा कर रहे थे, एक ओवरस्पीड ट्रक ने टक्कर मार दी, जिससे दो सदस्य मारे गए और वकील गंभीर रूप से घायल हो गए।

उत्तर प्रदेश पुलिस ने सोमवार को सेंगर और नौ अन्य लोगों के खिलाफ बलात्कार के बाद दुर्घटना के संबंध में हत्या का मामला दर्ज किया, बलात्कार के बाद बचे परिवार ने शिकायत दर्ज की, “साजिश” का आरोप लगाया।

यूपी के बांगरमऊ से चार बार के विधायक सेंगर को पिछले साल अप्रैल में गिरफ्तार किया गया था।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here