अपहरण के महज 3 घंटे के अंदर अपहृत को हाजीपुर से सकुशल बरामद कर लिया

0

नौबतपुर – राजधानी पुलिस को बड़ी कामयाबी हाथ लगी हैं ।एसएसपी टीम ने अपहरण के महज 3 घंटे के अंदर अपहृत को हाजीपुर से सकुशल बरामद कर लिया हैं।

पुलिस मामले की छानबीन में जुटी हैं । एसएसपी ने टीम किया गठित

पीडि़त परिवार ने जैसे ही सूचना वरीय पुलिस अधिकारियों तक दिया की नौबतपुर सीपीएस स्कूल के समीप से अश्विनी कुमार का अज्ञात अपराधियों ने अपहरण कर लिया हैं । एसएसपी गरिमा मलिक मामले को गंभीरता से लेते हुई नगर पुलिस अधीक्षक (पश्चिमी ) और डीएसपी फुलवारीशरीफ, नौबतपुर थानाध्यक्ष के नेतृत्व में टीम गठित किया और अविलंब कार्रवाई का निर्देश दिया ।

एसएसपी की गठित पुलिस टीम ने सक्रियता से कार्रवाई में जुट कर अपहृत युवक को महज तीन घंटे के इं अंदर हाजीपुर के पासवान चौक समीप पुल के पास से सकुसल बरामद कर लिया हैं । अपहृत युवक अश्विनी कुमार ,निसरपुरा के नर्मदेश्वर सिंह का पुत्र बताया जाता हैं । पुलिस अश्विनी से पूछताछ कर रहीं हैं और इस घटना के पीछे किस गिरोह या कौन अपराधी का हाथ यह पता करने में जुटी हैं ।
मोबाइल पर फोटो दिखाने के बहाने कर लिया अपहरण

युवक अश्विनी कुमार अमरपुरा हाई स्कूल ,नौबतपुर में एनसीसी का ट्रेनिंग देता था। शनिवार के अहले सुबह करीब 5 बजे टहल रहा था की एक स्कॉर्पियो गाड़ी पर सवार युवक उतरा और उसके आगे मोबाइल दिखाकर कहां की उक्त युवक को पहचानते है। जैसे ही अश्विनी तस्वीर देखने लगा की अपराधियों ने अश्विनी के ऊपर स्प्रे मारकर बेहोश कर दिया । इसके बाद अपहरण कर ले भागे  जब अश्वनी की आंखें खुली तो देखा गांधी सेतु पार कर रहा हूं सेतु पार करने के बाद उसे सुनसान जगह ले जाया गया जहां कुछ दूर दूर तक  कुछ  दिख नहीं रहा था  ट्रेन की आवाजाही लगी हुई थी जब फोन से बातें करने के लिए अपराधी ने गाड़ी से उतरा तभी अश्विनी ने मौके का फायदा उठाते हुए  गाड़ी से किसी तरह भाग निकला तभी कुछ महिला बगीचे में दिखाई परी तभी अश्विनी ने उनकी तरफ दौड़कर बढ़ा और सारी बातें  उन्हें  बताइ महिलाएं ने उन्हें छुपा कर रखा  अपराधियों द्वारा मारा भी गया सारी बातें  उन्होंने फोन से उस वक्त बताया जब उसने बगल के गांव के बगीचे में जा पहुंचा अब अश्विनी  सुरक्षित घर आ गया है!

एक बार फिर पटना पुलिस का बेमिसाल चेहरा सामने आया है। पटना में बच्चा चोर गिरोह काफी सक्रिय है। लेकिन एक ऐसा पुलिसवाला है जो कार्य के साथ लोगो की सेवा करने में लगा रहता है। अमित कुमार नाम के पुलिस वाले ने पीपुल फ्रेंडली पुलिस का दावा सच कर दिया है। यह पुलिसवाला हर वक़्त सेवा में लगा रहता है। पिछले चार महीने पहले भी सासाराम की महिला को बच्चा चोरी करते वक्त अमित ने रंगें हाथों पकड़ा था।

वहीँ नौबतपुर की महिला बिमला देवी पीएमसीएच में अपने पोते का इलाज करवाने आई थी। तभी रसीद कटाने के दौरान बच्चे को महिला गैंग ने चोरी कर लिया। और भागने की कोशिश की। इस पूरे घटना की जानकारी मिलते ही टॉप प्रभारी अमित ने घेराबंदी की प्रसूति कक्षा के बाहर से बच्चे को बरामद किया। अमित की ही पहल से बच्चा मिल सका। बच्चे का नाम आयुष है और सिटी एसपी पीके दास ने कहा कि मैं अमित पर फक्र करता हूं। और बेहतर कार्य के लिए पुलिस विभाग उसे पुरस्कृत करेगी। वहीं आयुष की दादी ने भी पटना पुलिस को धन्यवाद दिया। और पुलिस को देख महिला गैंग फरार हो गई। इन दिनों पीएमसीएच में महिला गैंग सक्रिय है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here